डाल दो रस मेरी प्यासी चूत में–1

नामिता इतनी गरम हो चुकी थी कि उससने नाज़ को मेरे लंड से अलग किया और खुद चूसने लगी. नाज़ मुझ से लिपटने लगी और मैने अपने होंठ उसस्की चुचि पर रख दिए और उसस्का दूध चूसने लगा,” ओह भैया किओं तडपा रहे हो अपनी बेहन को, पी लो मेरा दूध. मेरे निपल चूस लो भैया, मेरी चूत से रस की बरसात हो रही है. अपनी बहनो को चोद डालो भैया, हम को चोदो मेरे भाई. एस्सा करो, तुम पहले नामिता की सील तोड़ लो. मैं तो पहले ही चुद चुकी हूँ, तुम नामिता को औरत बना डालो, भैया” मैने नामिता को अपने लंड से अलग किया और उठा कर बिस्तर पर लिटा दिया. कामुकता से भरी नामिता मुझे गौर से देख रही थी और उसस्की नज़र मेरे लंड से नहीं हट रही थी. नाज़ ने नामिता को होंठों पर किस किया और फिर उस्स्को पीठ के बल लिटा कर नामिता की चूत चाटने लगी. मैं नाज़ के चूतड़ सहलाने लगा,” अहह…..ओह….नाआआज़….चोद दे मेरी चूत…….भैया अब नहीं रहा जाता…….गणेश….पेल दो अब तो…..मेरी चूत जल रही है…..और मत जलायो मुझे…..हाआँ नाज़….अब जीभ से नहीं चैन मिलता, मेरे अंदर लंड डलवायो मेरी बहना…”

नाज़ मुस्कुराते हुए उठी और बोली,” गणेश भाई, तेरी बेहन अब भत्ती की तरह दहक रही है. अपना लंड एक हथोदे की तरह मारो इसकी जलती हुई चूत में. निकाल दो इस छिनाल की गर्मी. इसकी चूत को अपने लंड से भर दो. मैं इस्को चुदते देखना चाहती हूँ.” मैने नामिता की टाँगों को फैला दिया और उसकी चूत के होंठ अपने आप खुल गये. चूत के उप्पेर उसका छ्होला फुदक रहा था. मैने उसकी चूत को थपकी मारी तो वो कराह उठी,” जल्दी करो भैया, प्लीज़….और मत तडपयो, चोद डालो अब तो मेरे भाई”

मैने लंड का सूपड़ा चूत के मूह पर टीकाया. एस्सा लगा कि सूपड़ा क़िस्सी आग के शोले पर रख दिया हो. धक्का मारा तो लंड आसानी से चूत में घुस गया. शायद नामिता की चूत का रस इतना बह रहा था कि उसस्की चूत कुँवारी होने के बावजूद आसानी से लंड निगल गयी. और या फिर उसने पहले ही बैंगन या खीरा इस्तेमाल कर की चूत को खोल लिया था. कट की ग्रिफ्त लंड पर कितना मज़ा देती है मैं नहीं जानता था. लेकिन अब मुझे महसूस हुआ की चुदाई का मज़ा क्या होता है. मेरे चूतड़ अपने आप आगे पीच्छे हो कर चुदाई करने लगे. असल में मैं जितनी तेज़ी से धक्के मारता, मुझे उतना ही मज़ा आता. उधर नामिता भी अपनी गांद उछाल्ने लगी मेरे धक्कों का जवाब चूतड़ उच्छल कर देने लगी.

यह कहानी भी पड़े  बिल्डर के साथ सेक्स कर के बीवी ने फ्लॅट की कॉस्ट कम करवाई

मैने नाज़ को कहा कि वो नामिता की चुचि को चूसना शुरू कर दे. नाज़ बिना बोले नामिता की चुचि पर झुक कर उसस्के निपल्स चूसने लगी. मेरे हाथों ने नामिता को चूतड़ के नीचे से जाकड़ लिया और ज़ोर ज़ोर से चोदने लगा,” अर्र्र्रररगज्गघह……मैं मर गइईई….ज़ोर से भाई….चोद बेह्न्चोद….चोद मुझे…..मैं गइईई…..गणेश…….ज़ोर सी” च्चपक च्चपक की आवाज़ से कमरा गूँज रहा था जब मेरा लंड नामिता की चूत के अंदर बाहर होता.” बहुत मज़ेदार हो तुम बहना….मैने एस्सा मज़ा कभी नहीं लिया…अगर पता होता इतना मज़ा आता है तो बेहन तो क्या मा को भी चोद देता को….ओह्ह्ह मेरी प्यारी बहना, बहुत मज़ेदार हो तुम…तुम ने मुझे धान्या कर दिया दीदी”

तभी नामिता की चूत मेरे लंड पर और ज़ोर से कस गयी और उसस्का बदन एंथने लगा. उसस्की साँस मुश्किल से चलने लगी. उसस्की जंघें मेरी कमर पर कस गयी. इधर मेरा लंड भी छूटने को था. मेरा लंड राजधानी एक्सप्रेस के पिस्टन की तरण चुदाई करने लगा,” ओह…दीदी….बस…..तेरा भाई झाड़ रहा है…..मेरा लंड झाड़ रहा है……क्या मैं पिचकारी चूत में डाल दूं या बाहर निकाल लूँ…भगवान कसम नहीं रहा जाता दीदी” नामिता की चूत पानी छ्चोड़ चुकी थी और वो अपने आप को संभाल कर बोली,” बाहर निकाल लो लंड, को भैया, मुझे गर्भवती नहीं होना है, बाहर निकालो जल्दी से.”

मैने अपना लंड बाहर खींचा तो नाज़ ने झट से झपट लिया और अपने मूह से लगा कर चूसने लगी और मेरा अंडकोष से खेलने लगी. मेरे हाथ नामिता दीदी की भीगी चूत को सहलाने लगे. अचानक मेरा लंड पिचकारी छ्चोड़ने लगा. मेरा लंड रस नाज़ के गालों पर, चुचि पर और कंधों पर जा गिरा. कुच्छ तो उससने पी लिया लेकिन रस की धारा इतनी तेज़ थी कि नाज़ के नंगे जिस्म पर फिर भी गिर पड़ा. नाज़ एक रंडी की तरह मेरा रस चाटने लगी.

यह कहानी भी पड़े  नई किरायेदार से जंपिंग जपांग

मेरा लंड अब सिकुड चुका था. अब मुझे चुदाई में कोई दिलचस्पी ना रही थी. मैं नामिता की बगल में लेट गया. नाज़ की बारी अभी बाकी थी. लेकिन मेरे में अब दम नहीं रहा. मेरे पैरों के पास नाज़ मुझे चूमने लगी. उसस्के होंठ मेरे पैरों के अंगूठे को लंड की तरह चूसने लगे. फिर उससने मेरे पैरों को किस किया, फिर टख़नो को. धीरे से उसस्की ज़ुबान उप्पेर उठने लगी. उसकी ज़ुबान मुझ में फिर से वासना भरने लगी और मेरा लंड फिर से सिर उठाने लगा. मैने नामिता की चुचि को मसलना शुरू कर दिया. वो हंस कर बोली,” अपनी बेहन को चोद कर अभी दिल नहीं भरा, भैया? फिर से लंड खड़ा हो रहा है. मेरी चूत की चटनी बना दी है तुमने.” कहते हुए नामिता ने मेरे लंड को पकड़ लिया और मुठियाने लगी. नीचे से नाज़ की जीभ और हाथ मुझे उतेज़ित कर रहे थे. मुझे होश तब आया जब नाज़ ने मेरे अंडकोष को मूह में भर लिया,”गणेश भैया, अब तुझे दूसरी बेहन को चोद कर शांत करना है, मेरे भाई. उस्स्को भी तो उसस्का हिस्सा मिलना चाहिए.” नामिता मेरे कान में बोली.

Pages: 1 2 3 4 5

error: Content is protected !!

Online porn video at mobile phone


सर ने मुझे खूब पेलागांड मार कि कहानियाँबेटे का जिस्म देख कर मेरी चूत में खुजली होने लगीपिया पति सेक बिबि विडिओmardkanangabadanantarvasna ग्लानिचुदाने का आदत बिबिकहानियाँ चाची और मौसी एक साथXxxxx chaha bhtiji vidiobhabhi aur devar Ka Rishtaxxxmai hu anjali chudai storyjahaj par jamkar chudayChalak bhai ne bathrom me nangi chut dekhi hindi kahanibhabi ka dudh devr ne piya xyxyबुआ की चुदाईराजस्‍थानी꫰गाड꫰मरवाइ꫰विडीयोभाभी ने पार्क बुला चुड़ैरिश्तोंमे वाईफ स्वापिंग सेक्स स्टोरीCHACHI KA BUR CHODA KAGANIतेरा बुर अछा है मैं चोदुगा Antarvasna aunty dekh ke xossipसोयी हुई मौसी केसाथ सेक्स कथाAnjane m raat bhar beti k sath sex story मेरी नज़र उसके कांख पर थी और जैसे ही उसने अपने हाथ उठाए मैंने देखा storyचुचियों का दबाBrsath me xxx khani hindi Ammi ka gangbang sex khaniyahavili sax baba antarvasnaबाती की चूत फट गईसास और बाहू की एक साथ चुडाई की XXXकहानियाभाभी से सुहागरात कि रिवाज हिदीं सेकस कहानीयाभैया कि रखैल चूदाई की कहानी 8 logo ka pariwar sex storypapa ki pari chud gayi storyAntervasna ghar m bhaga bhaga kमुझे चोदने आओगे ना हिन्दी सेक्स कहानियांसौतेली सास की जवानीpati ptni ki sachchi suhaagrat story jisme pyar ho hawas nhiमामी गाड मो लढphigar malis xnxxxदीदी bivi ke kapdey pehnaker चुदाई kahaniyaमाँ बेटा सेक्स कहानियाँ आआआआआआआantarvasna.jhad gayi par nahi ruka dhakke lagata rahaआपनी सागी वेटी की चूत मारीरंडी बीबी कि गाड़ मारी मुस्लिम नेमराठी सेक्स कथा मावशी बाथरूमदीदी की नई ब्रा पेन्टी कहानियाँ Garbhwati aurat chut me ungli karti huyi bedeoNeha ke samuhik sex story part 4बेटी की सेक्सी कहानीपत्नी समज के छोटी बहन की चुदाई स्टोरीSamuhik cudai ne rula diyauncle ne meri fuddi mote Lund se bajai sex story hindiSixe chudiy kahaniy.comविधवा.xxx.sex माँ नहाती हुएदादा ने दिलाई दादी की चुतchuti.behen.ki.chut.fadadi.bhai.ne.kahaniब्रा के कप्स मुझे साफ़ साफ़ नज़र आ रहे थे sex story in hindiघर पर कोई नहीं था बहन के साथxxxsexy story fufa ji ka land chusaअन्तर्वासना आंटी को घर परमराठी सेक्स स्टोरीस रंडी आईammi beta muslim ammi vidhwa hu kahani xxx hindimaa ko nind ka dawae de kr sex storiमौसी की जबरजस्ती चुदाई बेटे ने की nonveg.comकच्ची उम्र मे शील तोड़ी स्टोरीPariwarik hard gangbang chudai ki kahani2018 ka six antrvsna hand maघदि कि सुदाईचोद कहानीयाँJawan chut nadan landकोई देख लेगा सर-antarvasnamrathi shadi suda aanti xxx hot chudahi video H Dxxx.antrvsanaa .mose ke chut hind maPeth malish aur chudai hindi sex storymasi ki chudayi mosa ke samme